Thursday, July 18, 2024
spot_img
spot_img
03
20x12krishanhospitalrudrapur
previous arrow
next arrow
Shadow
Homeराज्यउत्तराखंडमायावती ने किया ऐलान, किसी माफिया या बाहुबली को नहीं दिया जाएगा...

मायावती ने किया ऐलान, किसी माफिया या बाहुबली को नहीं दिया जाएगा टिकट, मुख्तार का काटा पत्ता

एफएनएन, देहरादून : अगले साल यूपी में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सारे राजनीतिक दल पूरी ताकत से तैयारियों में जुट गए हैं। इस बीच बसपा भी अपनी छवि बनाने में जुटी है। ढाई साल बाद पहली बार दो दिन पहले जब मायावती सार्वजनिक मंच में ब्राह्मण सम्मेलन के माध्यम से नजर आई। उस दौरान लखनऊ पार्टी कार्यालय पर आयोजित ब्राह्मण सम्मेलन में मायावती ने कहा कि इस बार हमारी सरकार बनेगी तो हम महापुरुषों के पार्क, प्रतिमा या संग्रहालय बनाने में नहीं, बल्कि उत्तर प्रदेश की सूरत बदलने में अपनी ताकत लगाएंगे। गौरतलब है कि पार्क, प्रतिमा, संग्रहालय के चलते मायावती की पहले काफी किरकिरी हो चुकी है। उन्होंने कहा कि इस बार सर्व समाज के साथ ब्राह्मणों की जुगलबंदी से उत्तर प्रदेश में बसपा की सरकार बनने जा रही है। उन्होंने डंके की चोट पर अपनी सरकार के दौरान महापुरुषों की प्रतिमाएं लगवाई और संग्रहालय बनवाए। पार्कों का निर्माण कराया। अब उन्हें इसकी आवश्यकता नहीं है। उन्होंने कहा कि अब सरकार बनेगी तो पूरा ध्यान उत्तर प्रदेश की तस्वीर बदलने पर रहेगा। अब माफिया और बाहुबली को लेकर भी बसपा ने बड़ा कदम उठाया है। चुनावों में बाहुबलियों को टिकट देना कोई नई बात नहीं है, लेकिन बसपा का साफ कहना है कि पार्टी कोशिश करेगी कि आगामी यूपी विधानसभा चुनाव में किसी भी माफिया या बाहुबली को टिकट नहीं मिले। इसे लेकर के बसपा सुप्रीमो मायावती ने एक ट्वीट किया और बताया कि आगामी विधानसभा चुनाव में मऊ विधानसभा सीट से पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष भीम राजभर को चुनाव मैदान में उतारा जाएगा।

बसपा सुप्रीमो मायावती ने शुक्रवार को एक ट्वीट कर कहा कि-बीएसपी का आगामी यूपी विधानसभा आमचुनाव में प्रयास होगा कि किसी भी बाहुबली या माफिया आदि को पार्टी से चुनाव न लड़ाया जाए। इसके मद्देनजर ही आजमगढ़ मंडल की मऊ विधानसभा सीट से अब मुख्तार अंसारी का नहीं, बल्कि यूपी के बीएसपी स्टेट अध्यक्ष भीम राजभर के नाम को फाइनल किया गया है। मुख्तार अंसारी मऊ विधानसभा सीट से बसपा विधायक हैं। मुख्तार को पार्टी से बाहर करने और मऊ विधानसभा सीट से उनका टिकट काटने की अटकलें काफी समय से लगाई जा रही थीं। अब मायावती ने ट्वीट के जरिये इसका खुलासा कर दिया है। मायावती के इस कदम को पार्टी की छवि चमकाने की कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments