Thursday, July 18, 2024
spot_img
spot_img
03
20x12krishanhospitalrudrapur
previous arrow
next arrow
Shadow
Homeराज्यउत्तराखंडव्यापारी से अभ्रदता के बाद निवर्तमान पदाधिकारियों में ही छिड़ी जुबानी जंग

व्यापारी से अभ्रदता के बाद निवर्तमान पदाधिकारियों में ही छिड़ी जुबानी जंग

एफएनएन, किच्छा: व्यापार मंडल चुनाव की घोषणा के बाद से ही प्रांतीय उधोग व्यापार मंडल के निवर्तमान पदाधिकारी सवालों के घेरे में दिखाई दे रहे है। इधर व्यापारियों द्वारा निवर्तमान पदाधिकारियों से आय-व्यय का व्योरा मांगने के उपरान्त पदाधिकारियो बीच ही जुबानी जंग छिड़ गयी।

WhatsApp Image 2023-12-18 at 2.13.14 PM

सूत्रों की माने तो व्यापार मंडल का खाता कुर्माचल बैंक में होने के बाद भी सदस्यता शुल्क से अर्जित पैसे को व्यापार मंडल पदाधिकारियों द्वारा खाते में जमा नहीं किया गया, सूत्रों की माने तो व्यापार मंडल अध्यक्ष राजकुमार बजाज द्वारा उक्त विषय पर जिलाध्यक्ष को चिट्ठी लिखकर खाते में पैसा जमा की बात कहीं गयी थी, जो अनेक सवाल छोड़ जाती है, ऐसे में सवाल उठता है कि जो जनप्रतिनिधि विभिन्न मुद्दों को लेकर सवाल खडे करते दिख रहे थे। वह स्वयं आपसी कलह के चलते सवालो के घेरे में है। ऐसे में देखने वाली बात होगी कि आखिर व्यापार मंडल के निवर्तमान पदाधिकारी उठ रहे सवालों के जवाब दे पायेगे।

राजीव अग्रवाल दूसरे पक्ष का प्रतिनिधित्व कर रहे है, इस लिए वे इस प्रकार की बात कर रह है, ब्यौरा देना अध्यक्ष एवं कोषाध्यक्ष का विषय है। -विजय कुमार अरोरा, निवर्तमान व्यापार मंडल महामंत्री

जो चुनाव समिति द्वारा भुगतान व्यापार मंडल पदाधिकारियो को किया गया, उसका ब्योंरा सार्वजनिक किया जायेगा, राजीव अग्रवाल 150 रूपयें के लिए इतना परेशान न हो। -नितिन फुटेला, निवर्तमान व्यापार मंडल, कोषाध्यक्ष

खाता कुर्माचल बैंक में खुला हुआ था, जिसमें पैसे जमा करने हेतु आग्रह पदाधिकारियांे से किया गया, परन्तु खाते में पैसे नहीं डाले गये। इस संदर्भ में जिलाध्यक्ष को लिखित पत्र सौपा गया था। मेरें द्वारा पैसा नही खर्च किया गया तो आखिर ब्योंरा देना मेंरा अधिकार नहीं -राजकुमार बजाज, निवर्तमान व्यापार मंडल अध्यक्ष

मैं दूसरे पक्ष का प्रतिनिधित्व नही कर रहा मेरी जानकारी के अनुसार ब्योंरा कोषाध्यक्ष एवं महामंत्री देते है, पिछले चुनाव में लगभग नगर से लगभग 2600 वोट बनाये गये थे। जिसके हिसाब से 3 लाख 90 हजार की अनुमानित रकम एकत्र हुई, व्योरा 2600 व्यापारियों का है, न की राजीव अग्रवाल का -राजीव अग्रवाल, व्यापारी

पढ़ें-व्यापारी से अभ्रदता के बाद निवर्तमान पदाधिकारियों में ही छिड़ी जुबानी जंग

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments