Saturday, May 18, 2024
spot_img
spot_img
spot_img
03
20x12krishanhospitalrudrapur
previous arrow
next arrow
Shadow
spot_img
Homeराज्यउत्तराखंडचुनावी साल में धामी सरकार का हिंदुत्व के एजेंडे पर जोर, समान...

चुनावी साल में धामी सरकार का हिंदुत्व के एजेंडे पर जोर, समान नागरिक संहिता लागू करने की तैयारी

एफएनएन, देहरादून : धामी सरकार के लिए वर्ष 2023-24 चुनावी परीक्षा का भी साल है। नवंबर में शहरी स्थानीय निकायों के चुनाव होने हैं और 2024 में सत्तारूढ़ भाजपा लोकसभा चुनाव में होगी। एक तरह से धामी सरकार के लिए यह चुनावी तैयारी का साल है।

सरकार के एक के बाद एक सामने आ रहे फैसले बता रहे हैं कि चुनावी साल में उसका हिंदुत्व के एजेंडे पर जोर रहेगा। इसे ग्रीष्मकालीन राजधानी गैरसैंण के भराड़ीसैंण विधानसभा में सीएम धामी के उस बयान से समझा जा सकता है, जिसमें उन्होंने एलान किया कि जुलाई तक उत्तराखंड समान नागरिक संहिता लागू करने वाला देश का पहला राज्य बन जाएगा।

इस काम के लिए गठित विशेषज्ञ समिति की रिपोर्ट तैयार करने के अभियान में जुटी है। जनता से सुझाव प्राप्त करने के बाद अब समिति इन्हें छांटने और समान नागरिक संहिता के लिए उपयोगी सुझावों की सूची तैयार कर रही है। मुख्यमंत्री के बयान से साफ है कि समिति समान नागरिक संहिता बनाने की दिशा में तेजी से बढ़ रही है।

भाजपा के हिंदुत्व के एजेंडे में शामिल अयोध्या के राम मंदिर को लेकर हिंदुओं की भावनाओं को जगाने की कोशिश भी सरकार की ओर से होती दिखाई दे रही है। सीएम ने एलान किया है कि उनकी सरकार अयोध्या में एक अतिथिगृह बनाएगी, ताकि राज्य के लोग जब वहां जाएं तो उन्हें आवासीय सुविधा प्राप्त हो। इसके लिए उन्होंने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ से एक एकड़ जमीन मांगी है।

यूपी सरकार की ओर से सैद्धांतिक मंजूरी भी मिल चुकी है। राज्य संपत्ति विभाग को सीएम के स्पष्ट निर्देश हैं कि जैसे ही भूमि आवंटित होगी, उस पर भवन निर्माण शुरू हो जाए। जाहिर है कि इस काम को सीएम धामी इसी साल कर लेना चाहते हैं।

राज्य में जबरन धर्म परिवर्तन के खिलाफ सरकार पहले ही सख्त कानून बना चुकी है। अब पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं पर इसका जन-जन तक प्रचार करने का जिम्मा डाला गया है। पार्टी ने बूथ स्तर तक सरकार के जिन बड़े फैसलों को लोगों तक पहुंचाने की कार्ययोजना तैयार की है, उसमें धर्मांतरण रोकने का कानून सबसे ऊपर है।

  • जोर पकड़ेगा सांस्कृतिक राष्ट्रवाद का नारा
केदारनाथ धाम के पुनर्निर्माण कार्यों और मास्टर प्लान के तहत बदरीनाथ धाम की कायाकल्प योजना के जरिये प्रदेश में भाजपा सांस्कृतिक राष्ट्रवाद का नारा बुलंद करेगी। जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आएंगे, ये नारा और जोर पकड़ेगा। इसके साथ ही धामी सरकार मानसखंड गलियारे में शामिल मंदिरों में अवस्थापना सुविधाओं की योजनाओं में तेजी लाएगी। यह तेजी हरिद्वार में हर की पैड़ी गलियारा बनाने की योजना में भी दिखाई देगी। इन सभी योजनाओं को धामी सरकार ने अपनी सर्वोच्च प्राथमकिता में शामिल किया है और हाल ही में पेश बजट में इसका प्रमुखता से जिक्र किया गया है। हिंदू और स्थानीय लोक उत्सवों को बढ़ावा देकर भी इस एजेंडे को आगे बढ़ाया जाएगा।
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments